छत्तीसगढ़ में नए नर्सिंग कॉलेजों को राज्य सरकार की ‘नो एंट्री’ अनापत्ति प्रमाण पत्र देने पर लगाई रोक

रायपुर, 11 अप्रैल

छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार ने राज्य में नए नर्सिंग कॉलेजों के खुलने पर रोक लगा दी है। स्वास्थ्य चिकित्सा विभाग की ओर से जारी एक आदेश के मुताबिक नए नर्सिंग कॉलेजों के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी किये जाने पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई गई है। जिसके बाद एक दर्जन से ज्यादा आवेदन अटक गए है। इसके पीछे वजह बताई जा रही है कि राज्य में पहले से संचालित निजी नर्सिंग कॉलेजों पर लगाम कसने में शासन नाकाम रहा है।

नर्सिंग कॉलेजों को लेकर नए सिरे से नियम कायदे बनाने की प्रक्रिया चल रही है। जब तक नये नियम बन नहीं जाते हैं तब तक नए नर्सिंग कॉलेज नहीं खोलने का निर्णय किया गया है। मौजूदा समय में प्रदेश में  8 शासकीय एवं 103 निजी नर्सिंग कॉलेज संचालित हैं। लेकिन निजी नर्सिंग कॉलेजों में बड़े पैमाने पर अनियमितताओं की शिकायतें शासन तक पहुंची हैं।

एक दर्जन से ज्यादा आवेदन पेंडिंग:-

नर्सिंग कॉलेज खोलने की अनुमति इंडियन नर्सिंग काउंसिल द्वारा दी जाती है, लेकिन इसके लिए राज्य के चिकित्सा शिक्षा संचनालय से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेना अनिवार्य होता है। चिकित्सा शिक्षा संचनालय संस्था के पंजीयन, आर्थिक स्थिति एवं जमीन की उपलब्धता के आधार पर पहले एनओसी दे देता था, लेकिन फिलहाल इस पर रोक लगा दी गई है।

चिकित्सा शिक्षा संचालक डॉ. एसएल आदिले ने बताया कि प्रदेश में नर्सिंग कॉलेजों के लिए नए नियम-कायदे बनाए जा रहे हैं। जिसका प्रस्ताव स्वीकृति के लिए शासन के पास भेजा गया है। जब तक स्वीकृति नहीं मिलती है तब तक नए नर्सिंग कॉलेजों को एनओसी जारी करने पर पाबंदी लगी रहेगी।

Related Post

Leave a Comment